सामाजिक कार्यकर्ता ने मुख्यमंत्री से मांग किया है कि जहरीली शराब के सौदागरों पर वादे के अनुरूप सख्त कार्रवाई हो।

एसपी सिंह ने याद दिलाया कि प्रतापगढ़ में नकली शराब के सेवन से गत माह दर्जन भर लोगों की मौत हो गयी थी और केवल एक फैक्ट्री से 10 करोड़ से अधिक कीमत की नकली शराब, केमिकल, और उपकरण बरामद हुआ था।

डाo शक्ति कुमार पाण्डेय
विशेष संवाददाता
ग्लोबल भारत न्यूज नेटवर्क

प्रतापगढ़, 29 मई।

एसपी सिंह, अध्यक्ष, समाज सुधार समिति प्रतापगढ़ ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर मांग किया है कि जहरीली शराब के जो सौदागर चिन्हित किये गये हैं उन पर कठोर कार्रवाई होनी चाहिए।

एसपी सिंह ने कहा है कि प्रतापगढ में नकली शराब के सेवन से गत माह दर्जन भर लोगों की मौत हो गयी थी। शासन के सख्त निर्देश के बाद एडीजी जोन प्रयागराज तथा पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर की संयुक्त कार्यवाही में नकली शराब बनाने वाली फैक्ट्री का पर्दाफाश हुआ था।

उन्होंने स्मरण कराते हुए कहा कि अकेले एक फैक्ट्री से 10 करोड़ से अधिक कीमत की नकली शराब, केमिकल, और उपकरण बरामद हुआ था।

इसके अलावा कई करोड़ कीमत की नकली शराब विभिन्न थाना क्षेत्रों से बरामद हुई थी। उक्त अवसर पर मुख्यमंत्री द्वारा एलान किया गया था कि जहर के सौदागरों पर रासुका के तहत कार्यवाही की जायेगी।

एसपी सिंह ने कहा कि आश्चर्य है, रासुका और गैंगेस्टर के तहत कार्यवाही करने को कौन कहे अधिकांश आरोपी पुलिस के गिरफ्त से बाहर खुलेआम विचरण कर रहे है।

सामाजिक कार्यकर्ता ने अनुरोध किया है कि ऐसे असामाजिक तत्त्वों द्वारा गलत तरीके से अर्जित की गई चल अचल संपत्ति को कुर्क कर उन्हें तत्काल गिरफ्तार कर जेल भेजा जाए। ताकि ऐसे असामाजिक तत्वों का मनोबल तोड़ा जा सके।