फादर स्टेन स्वामी को श्रद्धांजलि देने के लिए प्रतापगढ़ में विभिन्न संगठनों के सामाजिक कार्यकर्ता एकत्रित हुए।

स्वामी को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि फादर स्टेन स्वामी की मृत्यु न्यायिक हिरासत में हुई। स्वामी ने झारखंड राज्य में 50 वर्ष तक आदिवासी लोगों के जल जंगल जमीन के लिए संघर्ष किया।

डाo शक्ति कुमार पाण्डेय
विशेष संवाददाता
ग्लोबल भारत न्यूज नेटवर्क

प्रतापगढ़, 11 जुलाई।

फादर स्टेन स्वमी को श्रद्धांजलि देने के लिए विभिन्न राजनीतिक दलों और संगठनों के सामाजिक कार्यकर्ता शाम करीब 5:00 बजे एकत्रित हुए।

श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए सामाजिक कार्यकर्ताओें ने कहा कि फादर स्टेन स्वामी की मृत्यु पिछले दिनों 84 वर्ष की अवस्था में न्यायिक हिरासत में हो गई। उनको भीमा कोरेगांव प्रकरण में अभियुक्त बनाया गया था।

लोगों का कहना है कि स्टेन स्वामी कभी भीमा कोरेगांव गए भी नहीं थे। स्वामी ने झारखंड राज्य में 50 वर्ष से भी अधिक समय से आदिवासी लोगों के जल जंगल जमीन के अधिकार के लिए संघर्ष किया।

वक्ताओं ने कहा कि देश में न्यायिक हिरासत में फादर स्टेन की मृत्यु को संस्थानिक हत्या के रूप में जाना जा रहा है और आज पूरे विश्व में भारत की न्याय प्रणाली और भारत के लोकतंत्र की आलोचना हो रही है। सरकार अपने तमाम राजनीतिक विरोधियों और जन अधिकारो की सुरक्षा के लिए संघर्षरत सामाजिक कार्यकर्ताओं को यूएपीए जैसे कानून लगाकर उन्हें जेल में ही मार देना चाहती है। ऐसे में पूरे देश को लोकतांत्रिक मूल्यों की रक्षा के लिए आगे आना होगा।

इस अवसर पर प्रमुख रूप से मजदूर नेता हेमंत नंदन ओझा, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के जिला मंत्री रामबरन सिंह, जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष डॉक्टर लालजी त्रिपाठी , कामरेड राजमणि पांडे, ट्रेड यूनियन नेता बीपी त्रिपाठी, ऑल इंडिया तंजीमें इंसाफ के अध्यक्ष मुख्तार खान, मंत्री सलीमुद्दीन एडवोकेट, इंडियन एसोसिएशन आफ लॉयर्स के जिला महामंत्री निर्भय प्रताप सिंह, बहुत धनहा परिषद के जिला अध्यक्ष सुरेंद्र कुमार, वकील परिषद के पूर्व अध्यक्ष बृजनाथ ओझा, मजदूर नेता रामसूरत, सामाजिक कार्यकर्ता सोनिया गुप्ता, कांग्रेस के इरफान अली, यस यू सी आई के प्रदेश सचिव पुष्पेंद्र विश्वकर्मा, व्यवसाई मनोज कुमार गुप्ता, समाजसेवी इरफान उल्लाह, कांग्रेस सेवा दल के अध्यक्ष महेंद्र शुक्ला, यमुना प्रसाद पांडे, किसान सभा के जिला उपाध्यक्ष आर डी यादव, मजदूर नेता सत्येंद्र कुमार, कटरा नगर पंचायत सभासद अख्तर अंसारी, अशोक कुमार गुलाब गौतम जगत प्रसाद मनोज कुमार आदि प्रमुख थे।

इस अवसर पर उपस्थित लोगों द्वारा फादर स्टेन स्वामी की याद में 2 मिनट का मौन रखकर उन्हें श्रद्धांजलि भी दी गई। इस अवसर पर लोगों के हाथ में स्वामी की शहादत बेकार नहीं जाएगी, लोकतंत्र विरोधी यू ए पी ए समेत सभी काले कानून रद्द करो, तमाम राजनैतिक बंदियों व सामाजिक कार्यकर्ताओं आंदोलनकारियों को रिहा करो, जल जंगल और संवैधानिक अधिकारों का संघर्ष तेज करो, आदि स्लोगन पट्टियां तथा स्वामी के चित्र थे।