ईराक के नासीरिया में कोरोना अस्पताल में भीषण आग से 39 लोगों की मौत, जबकि 20 लोग घायल हो गए हैं।

ईराक के स्वास्थ्य अधिकारियों और पुलिस ने बताया कि अस्पताल में मृतकों के शव बाहर निकाले जा रहे हैं। कई मरीजों को अस्पताल में धुंआ भर जाने की वजह से खांसी की शिकायत हो रही है।

ग्लोबल भारत न्यूज नेटवर्क
ग्लोबल डेस्क

ईराक, 13 जुलाई।

ईराक के दक्षिणी शहर नासीरिया में स्थित कोरोना अस्पताल में भीषण आग लगने की खबर मिली है, जिसमें लगभग 39 लोगों की मौत हुई, जबकि 20 लोग इसमे घायल हो गए हैं।

ईराक के स्वास्थ्य अधिकारियों और पुलिस ने बताया कि अस्पताल में मृतकों के शव बाहर निकाले जा रहे हैं। कई मरीजों को अस्पताल में धुंआ भर जाने की वजह से खांसी की शिकायत हो रही है।

अल हुसैन कोरोना वायरस अस्पताल में आग पर नियंत्रण पाने के बाद सर्च ऑपरेशन जारी है। अस्पताल में लगी भीषण आग में कई मरीज अंदर ही फंस गए, राहत और बचाव टीम को उन तक पहुंचने में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

शुरुआती पुलिस रिपोर्ट के अनुसार अस्पताल में ऑक्सीजन टैंक में विस्फोट हुआ था, जिसकी वजह से आग लगी है।

सूत्रों के अनुसार, अस्पताल में लगी आग से मरने वालों की संख्या में इजाफा हो सकता है, अभी भी कई मरीज लापता हैं, इस हादसे में दो स्वास्थ्य कर्मियों की भी मौत हो गई है।

उल्लेखनीय है कि इससे पहले अप्रैल माह में भी इराक के एक कोविड अस्पताल में ऑक्सीजन टैंक में विस्फोट हुआ था, जिसकी वजह से आग लग गई थी। यह घटना बगदाद में हुई थी, जिसमें 82 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि 110 लोग इस हादसे में घायल हुए थे।

ईराक पहले से ही युद्ध की मार झेल रहा था,ऐसे में यहां का हेल्थ केयर सिस्टम बुरी तरह से चरमरा गया है और लोगों को कोरोना से अपनी जान बचाना मुश्किल हो रहा है।

अभी तक ईराक में 17592 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है, जबकि 1.438 मिलियन लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं।