मुख्यमंत्री योगी ने कोविड-19 संक्रमण को देखते हुए घर पर ही नमाज पढऩे और पर्व मनाने की अपील किया है।

उत्तरप्रदेश की राज्यपाल आनन्दी बेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेशवासियों को बकरीद की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि यह त्योहार सभी को मिल-जुलकर रहने व सामाजिक सद्भाव बनाए रखने की प्रेरणा देता है।

डाo शक्ति कुमार पाण्डेय
ग्लोबल भारत न्यूज नेटवर्क

लखनऊ, 21 जुलाई।

मुख्यमंत्री योगी ने कोविड-19 संक्रमण को देखते हुए घर पर ही नमाज पढऩे और पर्व मनाने की अपील की है।

उत्तरप्रदेश की राज्यपाल आनन्दी बेन पटेल और योगी आदित्यनाथ ने प्रदेशवासियों को बकरीद की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि यह त्योहार सभी को मिल-जुलकर रहने व सामाजिक सद्भाव बनाए रखने की प्रेरणा देता है।

विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने भी पर्व की पूर्व संध्या पर प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई दी है। उन्होंने कहा कि बकरीद इस्लाम धर्म में विश्वास करने वाले लोगों का प्रमुख त्योहार है। इस दिन को आपसी सौहार्द व हर्षोल्लास के साथ मनाया जाना चाहिए।

लखनऊ में दो बकरे साढ़े चार लाख में बिके हैं।एक विक्रेता इकराम खान ने बताया कि वर्तमान में कोरोना संक्रमण के कारण बकरा मंडी में न जाने वाले ऑनलाइन भी बकरा खरीद रहे हैं। ग्रुप में जानवरों के बारे में सभी जानकारियां डाली जाती हैं वीडियो कालिंग के जरिए लोगों को बात बताई जाती है। आनलाइन बकरे की खरीदारी पर बकरे पसंद न आने पर पूरा पैसा वापस करने का भी आफर दिया गया।

कोरोना संक्रमण के चलते इस बार सीमित स्थानों पर बकरा मंडी लगाई गई। बंधे के पास लगी मंडी में नक्खास के एक व्यक्ति ने साढ़े चार लाख में दो बकरे खरीदे। एक बकरे का वजन 170 किग्रा और दूसरे का वजन 150 किग्रा है। खरीदार ने बताया कि बादाम-पिस्ता के साथ ही दोनों बकरे मौसमी व अनार का जूस पीते हैं।

दुबग्गा मंडी के पास अफ्रीकन बोर और कश्मीरी बकरों की बिक्री 70 से 80 हजार रुपये के बीच रही। दो अफ्रीकन बोर के जोड़े को खुर्रमनगर के हसनैन खान ने 1.50 लाख में खरीदा। बकरों के मालिक वसीम ने बताया कि इसका मीट बाजार में पांच हजार रुपये प्रति किलो बिकता है।

बकरा बेचने आए सलमान ने बताया कि तुर्की दुम्बा, सोजत, तोतापरी, बरबरी, जमुनापरी नस्ल के बकरे होते हैं। इस बार संक्रमण के चलते इनकी संख्या कम रही। पक्कापुल के पास लगी बकरा मंडी में 40 हजार का बकरा 28 हजार का बिका। सीतापुर से आए जुबेर ने बताया कि दो दिन के इंतजार के बाद भी इससे अधिक दाम देने वाला कोई नहीं मिला।

दिनभर रुक-रुककर बारिश होने के बावजूद मंडी में लोग डटे रहे। कैंपवेल रोड, डालीगंज, पक्कापुल, मेहंदी घाट समेत हर ओर बकरे की खरीदारी होती रही। आठ से 15 हजार रुपये तक सामान्य बकरा बिका।

पशुडाटकाम, ओएलएक्स समेत अन्य साइट पर भी बकरों की खरीद-फरोख्त की गई। वेबसाइट पर बकरा मालिक अपना पता भी अपलोड कर रहे हैं ताकि ग्राहक आकर भी बकरा देख सकें। इसके अलावा कई वेबसाइट पर आनलाइन कुर्बानी का हिस्सा भी लिया जा सकता है। हालांकि, कई जगहों पर लोग कुर्बानी कराने की जगह दो से तीन रुपये देकर कुर्बानी में हिस्सा ले लेते हैं। कुर्बानी में हिस्से के लिए कई जगहों पर संस्थाएं अपने कैंप भी लगाती हैं।

उल्लेखनीय है कि कोविड-19 संक्रमण से सुरक्षा के मद्देनजर इस बार मस्जिदों में बकरीद की नमाज पर सिर्फ 50 लोगों के प्रवेश की अनुमति रहेगी। बुधवार को नमाज के समय शारीरिक दूरी और कोविड प्रोटोकाल का पूरी तरह से सभी को पालन करना होगा।

इस दौरान शहर की यातायात व्यवस्था भी बदली रहेगी। कई मार्गों पर आवागमन प्रतिबंधित रहेगा। वाहन चालकों को वैकल्पिक मार्ग का प्रयोग करना होगा। यह जानकारी डीसीपी ट्रैफिक रईश अख्तर ने दी।

सीतापुर रोड से आने वाले वाहन डालीगंज तिराहे से पक्कापुल और टीले वाली मस्जिद की ओर डायवर्ट होंगे। पक्के पुल से खदरा बंधा और टीले वाली मस्जिद की ओर डायवर्ट होंगे।

हरदोई रोड से आने वाले वाहन टीले वाली मस्जिद की ओर, कोनेश्वर चौराहे से बड़े इमामबाड़े की ओर, नींबू पार्क चौराहे से बड़े इमामबाड़े की ओर, चौक चौराहे से नींबू पार्क की ओर, और चरक चौराहे से फूलमंडी, खुनखुन जी कॉलेज की ओर डायवर्ट होंगे।

इसी प्रकार शाहमीना से पक्के पुल और टीले वाली मस्जिद की ओर तथा डालीगंज पुल से सीतापुर रोड होते हुए पक्का पुल की ओर डायवर्ट किया गया है।

शाहमीना तिराहे से हरदोई रोड की तरफ बड़े वाहन प्रतिबंधित रहेंगे और एवरेडी तिराहे से मिल एरिया की वाहनों का आवागमन प्रतिबंधित। मिल एरिया से बुलाकी अड्डा के रास्ते पर केवल नमाजी जा सकेंगे।

इसी तरह बुलाकी अड्डा तिराहे से हैदरगंज की ओर, हैदरबाग से ऐशबाग ईदगाह की ओर, नाका से ऐशबाग ईदगाह की ओर, यहियागंज से ऐशबाग ईदगाह की ओर, डालीगंज रेलवे क्रासिंग से बाएं आठ नम्बर चौराहा, निरालानगर या आइटी चौराहे को, पक्का पुल से पहले अथवा नया पक्का पुल के रास्ते, कोनेश्वर चौराहे से चौक या मेडिकल कालेज चौराहे के रास्ते, कोनेश्वर चौराहे से चौक चौराहा, मेडिकल कॉलेज या नए पक्के पुल से, कोनेश्वर तिराहे से नया पक्कापुल के रास्ते, कोनेश्वर चौराहे से चरक चौराहा से होकर, मेडिकल कालेज से कोनेश्वर चौराहा के रास्ते, मेडिकल कालेज से डालीगंज पुल या आइटी चौराहे के रास्ते, आईटी चौराहे से कपूरथला या पुरनिया के रास्ते, शाहमीना तिराहे से बाएं मेडिकल कालेज या कोनेश्वर चौराहा से, मवैया ओवर ब्रिज या लगड़ा फाटक होकर राजाजीपुरम के रास्ते, राजाजीपुरम से एवरेडी या मवैया के रास्ते, टिकैतराय तालाब से मिल एरिया, मवैया अथवा एवरेडी से जा सकेंगे, बुलाकी अड्डे से मिल एरिया, एवरेडी या मवैया के रास्ते, रकाबगंज पुल, नत्था तिराहे से मवैया के रास्ते, और रकाबगंज पुल से नक्खास के रास्ते ट्राफिक डायवर्सन रहेगा।

एडीसीपी ट्रैफिक श्रवण कुमार सिंह ने बताया कि डायवर्जन के दौरान अगर वैकल्पिक मार्ग पर वाहनों के दबाव के कारण इमरजेंसी वाहन जैसे एंबुलेंस, शव वाहन अथवा दमकल फंसा है तो उसके लिए संबंधित व्यक्ति को ट्रैफिक कंट्रोल रूम के नंबर 6389304141, 6389304242 और 9454405155 पर फोन करना होगा।

इसके बाद मौके पर ट्रैफिक पुलिस कर्मी भेजकर वाहन को जाम से निकाला जाएगा। इसके अलावा अगर यातायात से संबंधित कोई अन्य समस्या है तो भी लोग यहां फोन कर सकते हैं।