पुष्पक एक्सप्रेस में सामूहिक बलात्कार और लूटपाट की सूचना।

लखनऊ से मुंबई जा रही पुष्पक एक्सप्रेस में एक महिला से सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है। यह वारदात शुक्रवार की रात महाराष्ट्र के इगतपुरी और कसारा रेलवे स्टेशनों के बीच घाट क्षेत्र में हुई। डकैतों ने यात्रियों के साथ लूटपाट भी की।

पुष्पक एक्सप्रेस में सामूहिक बलात्कार और लूटपाट की सूचना।

(डा० शक्ति कुमार पाण्डेय, राज्य संवाददाता, ग्लोबल भारत न्यूज नेटवर्क)

लखनऊ, 10 अक्टूबर।

लखनऊ से मुंबई जा रही पुष्पक एक्सप्रेस में एक महिला से सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है। यह वारदात शुक्रवार की रात महाराष्ट्र के इगतपुरी और कसारा रेलवे स्टेशनों के बीच घाट क्षेत्र में हुई। डकैतों ने यात्रियों के साथ लूटपाट भी की।

कल्याण राजकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) ने चार डकैतों को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि चार अन्‍य बदमाश भाग निकले। लूट  का कुछ सामान भी बरामद हुआ हैं।

मुंबई जीआरपी के पुलिस आयुक्त कैसर खालिद ने बताया कि आठ अक्टूबर को लखनऊ से मुंबई आ रही पुष्पक एक्सप्रेस जब नासिक के बाद इगतपुरी स्टेशन पहुंची तो उसकी डी-2 स्लीपर कोच में आठ हथियार बंद लोग चढ़ गए।

ट्रेन चलने के बाद इगतपुरी से कसारा के बीच ट्रेन के सुरंगों से गुजरने के दौरान इन लोगों ने यात्रियों से लूटपाट शुरू कर दी।

अपने पति के साथ मुंबई जा रही 20 वर्षीय महिला से डकैतों ने सामूहिक दुष्कर्म भी किया। उसके पति ने विरोध किया तो उसे मारा-पीटा और चाकू मारने की धमकी भी दी।

उल्लेखनीय है कि इगतपुरी से कसारा के बीच ट्रेन को कई सुरंगों से गुजरना पड़ता है। इस दौरान ट्रेन में अंधेरा हो जाता है।

ट्रेन के कसारा स्टेशन पहुंचते ही डकैत कूदकर भागने लगे। यात्रियों ने तुरंत शोर मचाया तो पुलिस ने प्लेटफार्म पर ही एक डकैत को पकड़ लिया। बाद में तीन और डकैत पकड़े गए। बाकी चार डकैतों की पुलिस तलाश कर रही है।

डकैतों ने यात्रियों से 96,390 हजार से ज्यादा के मोबाइल और अन्य सामान भी लूटे थे, जिनमें से पुलिस ने पकड़े गए डकैतों के पास से 34,200 रुपयों के सामान बरामद कर लिए हैं।

खालिद ने बताया कि सामूहिक दुष्कर्म पीडि़ता महिला का मेडिकल कराया गया है। उसकी स्थिति ठीक बताई जा रही है।

पुलिस ने डकैतों के खिलाफ आईपीसी की धाराओं – 395 (डकैती), 397(लूट एवं डकैती), 376डी (सामूहिक दुष्कर्म), 354 (किसी महिला की अस्मत पर हमला), तथा 354बी एवं इंडियन रेलवे एक्ट की धारा 153 के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

पुलिस ने सभी डकैतों को कोर्ट में पेश किया। अदालत ने फिलहाल सभी को 16 अक्टूबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया है।