मुंबई में मुख्यमंत्री योगी को मिला लगभग ₹5 लाख करोड़ का निवेश,टाटा संस का बड़ा ऐलान

अडानी को भायी यूपी की पीपीपी मेडिकल कॉलेज पॉलिसी, बलिया और श्रावस्ती में मेडिकल कॉलेज के लिए दिखाई रुचि,रैमकी ग्रुप ने दिया प्रस्ताव, कानपुर-लखनऊ के बीच बनाएंगे सैटेलाइट सिटी,टाटा संस का ऐलान, यूपी में आध्यात्मिक महत्व के हर शहर में होगी एयर इंडिया की उड़ान
 
Global bharat news

ग्लोबल भारत न्यूज़ नेटवर्क

मुंबई, 05 जनवरी। भारतीय उद्योग जगत को उत्तर प्रदेश ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट का आमंत्रण देने देश की आर्थिक राजधानी मुंबई आए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ₹5 लाख करोड़ से ज्यादा का निवेश लेकर यूपी लौटे हैं। रिलायंस इंडस्ट्रीज के मुखिया मुकेश अम्बानी ने पूरे यूपी में 5जी इंटरनेट कनेक्टिविटी पहुंचाने और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से उत्तर प्रदेश के गांवों तक बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने सहित इलेक्ट्रोनिक्स मैन्युफैक्चरिंग और, ग्रीन एनर्जी सेक्टर में बड़े निवेश का प्रस्ताव दिया है, तो अडानी समूह पीपीपी मोड पर मेडिकल कॉलेज की स्थापना के साथ-साथ नोएडा में 10 हजार युवाओं की क्षमता वाला कौशल विकास केंद्र स्थापित करने का भी प्रस्ताव रखा।

दो दिनी मुंबई दौरे के दौरान मुख्यमंत्री के साथ रिलायंस, टाटा संस, अडानी, गोदरेज, बिरला, पिरामल, वेदांता, पार्ले, हिंदुजा, लोढ़ा और रैमकी सहित दो दर्जन से अधिक उद्योगपतियों ने मुलाकात की। मैराथन कार्यक्रमों के बीच उद्योग जगत के दिग्गजों के साथ हुई विशेष मुलाकातों में मुख्यमंत्री ने उद्योग जगत को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के $5 ट्रिलियन के संकल्प से जुड़ने का आह्वान किया। 

मुख्यमंत्री से भेंट के दौरान अगले 05 वर्ष में लाखों करोड़ के निवेश के अनेक प्रस्तावों के साथ अडानी समूह के करन अडानी ने वेयरहाउसिंग व लॉजिस्टिक्स सेक्टर में बड़े निवेश की कार्ययोजना पर चर्चा की, तो 07 अलग-अलग स्थानों पर सीमेंट की इकाइयां लगाने पर भी विमर्श हुआ। करण अदाणी ने मुख्यमंत्री योगी की औद्योगिक नीतियों की प्रशंसा करते हुए लखनऊ एयरपोर्ट के विस्तारीकरण की योजना भी साझा की। यूपी डिफेंस कॉरीडोर में ब्राजील के बाद दुनिया का  सबसे बड़ा एमयूनिशन हब बनाने की कार्ययोजना पर विस्तार से चर्चा की। यूपी के हर जिले में मेडिकल कॉलेजों की स्थापना की नीति से खासे प्रभावित करन अडानी ने बलिया और श्रावस्ती में पीपीपी मोड पर मेडिकल कॉलेज की स्थापना का प्रस्ताव रखा। इसके अलावा, साइलोज, स्मार्ट मीटर मैन्युफैक्चरिंग में भी अदाणी समूह निवेश करेगा। उद्योग जगत के लिए कुशल मानव संसाधन की जरूरत बताते हुए करन अडानी ने नोएडा में 10 हजार युवाओं की क्षमता वाला कौशल विकास केंद्र स्थापित करने का भी प्रस्ताव रखा। आदित्य बिरला ग्रुप के चेयरमैन कुमार मंगलम बिरला ने नोएडा में एक कन्वेंशन सेंटर की स्थापना के लिए सरकार से सहयोग मांगा और कहा कि यह कन्वेंशन सेंटर दुनिया के बड़े कन्वेंशन सेंटरों में से एक होगा। बिरला समूह ने यूपी की सेक्टोरल नीतियों की सराहना की और फ़ूड प्रोसेसिंग, डेटा सेंटर, वेयरहाउसिंग व लॉजिस्टिक्स म साथ-साथ सोलर एनर्जी सेक्टर में निवेश के लिए मुख्यमंत्री से अपनी कार्ययोजना साझा की। पिरामल एंटरप्राइजेज के अजय पिरामल ने कहा कि कंपनी अपने सामाजिक उत्तरदायित्वों म निर्वहन के लिए सतत प्रयत्नशील है। प्रधानमंत्री जी के टीबी मुक्त भारत के संकल्प से जुड़कर हम वाराणसी में खास अभियान चलाएंगे। उन्होंने फार्मा पार्क के विकास के लिए बड़े निवेश के संबंध में मुख्यमंत्री से अपनी रुचि जताई। इसी तरह, जेएसडब्ल्यू ग्रुप के एमडी सज्जन जिंदल ने पॉवर जनरेशन के लिए सोनभद्र में अत्याधुनिक तकनीक वाले पम्प स्टोरेज प्लांट की स्थापना, कानपुर में ईवी मैन्युफैक्चरिंग इकाई की स्थापना और एक नई पेंट इकाई लगाने पर भी चर्चा की। जिंदल ने कानपुर में एक मंदिर और नैमिषधाम के विकास में सहभागी बनने का इच्छा भी जाहिर की।

विशेष भेंट के दौरान हीरानन्दानी समूह के मुखिया दर्शन हिरानन्दानी ने नई परियोजनाओं के लिए एमओयू करते हुए विदेशी पार्टनर के सहयोग से सेमीकंडक्टर निवेश की योजना पर चर्चा की तो टाटा संस के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन ने उत्तर प्रदेश की सांस्कृतिक और आध्यात्मिक महत्व की चर्चा करते हुए यूपी में आध्यात्मिक सर्किट की विकास योजना पर भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि एयर इंडिया की उड़ान सेवा बहुत जल्द यूपी के सभी एयरपोर्टो पर उपलब्ध होगी, साथ ही सभी आध्यात्मिक महत्व वाले स्थलों पर होटल भी स्थापित करेगी। भावी निवेश योजनाओं पर चर्चा करते हुए देश के प्रतिष्ठित उद्योग समूह के कार्यकारी मुखिया ने कहा कि टाटा, पॉवर, हाइड्रोजन, ईवी, फ़ूड प्रोसेंसिंग और सेमीकंडक्टर में निवेश की बड़ी योजनाओं पर काम कर रही है। यूपी के साथ काम करने के लिए कंपनी ने पूरी तैयारी की है। 16 जिलों में गैस और लोअर डिस्ट्रीब्यूशन कर रहे टोरंट पॉवर के जिनल मेहता ने बताया कि कंपनी के अभी की परियोजना में 5000 रोजगार पैदा हुए हैं और इसमें 90 फीसदी लाभ स्थानीय युवाओं को मिला है। यूपी में काम करने के अपने अनुभवों को उत्साहवर्धक बताते हुए उन्होंने कहा कि हम नए इन्वेस्टमेंट के साथ यूपी के विकास में सहभागिता करेंगे। वेदांता रिसोर्सेज के मुखिया अनिल अग्रवाल ने उत्तर प्रदेश में काम करने को सौभाग्य बताते हुए कहा कि हम नोएडा में इलेक्ट्रॉनिक्स और ईवी सेक्टर में रिसर्च एंड डिवेलपमेंट की बड़ी परियोजना लाने को तैयार हैं। यहाँ करीब 500 देसी-विदेशी लोगों को नौकरी मिलेगी। इसके अलावा, मोबाइल व टैबलेट पर लगने वाले ग्लास के निर्माण के लिए गोरखपुर में ग्लास मैन्युफैक्चरिंग यूनिट लगाने की योजना है, इसके लिए कई कंपनियों के साथ मिलकर काम एक इको सिस्टम का विकास किया जाएगा। हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड के संजीव मेहता ने मुख्यमंत्री से कहा कि उनकी कंपनी एटा, उरई, हमीरपुर आदि में 05 इकाइयां पहले से संचालित हैं। इसे और विस्तार देने की योजना के तहत एचयूएल अगले दो वर्ष के भीतर बड़ा निवेश करेगी। मुख्यमंत्री से हुई इस भेंट के दौरान जिन विषयों पर निवेश की सहमति बनी है, अब वह 10 से 12 फरवरी को आयोजित ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में औपचारिक रूप लेंगे।

यह भी मिले प्रस्ताव

गोदरेज समूह के 04 कारखाने पहले से संचालित हैं। बाराबंकी में जल्द नया कारखाना शुरू हो जाएगा। गोदरेज समूह नये शहर के विकास में सहभागी बनने को तैयार है।

लोढ़ा ग्रुप अयोध्या, वाराणसी और  गोरखपुर में आवास परियोजनाएँ लाएगी।

रैमकी ग्रुप हैदराबाद में अपने फार्मा पार्क की तर्ज पर यूपी में भी एक निजी फार्मा पार्क की स्थापना को इच्छुक है। इसके अलावा, एसटीपी और सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट के बारे में भी अपना प्रस्ताव रखा। समूह के संस्थापक एए रामी रेड्डी ने मुख्यमंत्री से लखनऊ और कानपुर के बीच एक सैटेलाइट सिटी के विकास में सहयोग का प्रस्ताव भी दिया।

 कोकिलाबेन धीरूभाई अम्बानी अस्पताल की ओर से मुख्यमंत्री से भेंट करते हुए डॉ. तुषार मोतीवाला ने कानपुर में हब एंड स्पोक मॉडल पर कोकिलाबेन धीरूभाई अस्पताल खोलने की।अपनी योजना साझा कक।