देवरिया हत्याकांड की इनसाइड स्टोरी- आखिर कैसे बना 6 लोगों की हत्याओं की जड़ 6 बीघे जमीन का विवाद

गांव के ही एक व्यक्ति ने बताया कि कुल 25 बीघे जमीन पर सत्यप्रकाश दुबे उनके भाई ज्ञानचंद आधे के हिस्सेदार थे। साढ़े बारह बीघा जमीन उनके पटिदार की है जो भाटपाररानी रहते हैं। ज्ञानचंद दुबे नशे का आदि है, जो गुजरात जाकर काम धंधा करता है। अपने भाई सत्यप्रकाश से इसकी बिल्कुल नहीं बनती है, ये प्रेम यादव के ही मकान पर रहता है। इस पूरे मामले की जड़ में ज्ञानचंद द्वारा प्रेम यादव को बेची सवा छह बीघा जमीन है।
 
Crime

ग्लोबल भारत न्यूज नेटवर्क

देवरिया, 03 अक्टूबर:- उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले में सोमवार को दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई, जमीनी विवाद के चलते 6 लोगों की हत्या कर दी गई। इनमें से 5 एक ही परिवार के लोग थे, हमलावर इतने बेरहम थे कि उन्होंने 8 साल के बच्चे पर भी जानलेवा हमला किया। गंभीर रुप से घायल बच्चे का इलाज अस्पताल में चल रहा है। जिले में दिल दहला देने वाली यह घटना रुद्रपुर थानाक्षेत्र के फतेहपुर लेढ़हा टोला की है। जहां 6 लोगों की हत्याओं की जड़ 6 बीघे जमीन का विवाद है।

क्या था पूरा मामला- आइये जानतें क्या है ये जमीनी विवाद और कैसे दो परिवारों की लड़ाई इतनी विभत्स हो गई कि 6 लोगों की जान चली गई। पूरा मामला दो परिवार प्रेम यादव और सत्यप्रकाश दुबे से जुड़ा हुआ है। दो अलग-अलग जातियों के चलते आपस में जमीनी विवाद की पुरानी रंजिश चल रही थी। इस हत्याकांड को पूर्व जिला पंचायत सदस्य प्रेम यादव की हत्या के बाद अंजाम दिया गया। दुबे परिवार में सबसे बड़े भाई जयप्रकाश की मौत बीमारी से हो चुकी है। दो भाइयों में से एक ज्ञानचंद ने अपने हिस्से की जमीन पूर्व जिला पंचायत सदस्य प्रेम यादव को बेच दी थी। पिछले कई सालों से सत्यप्रकाश दुबे और प्रेम यादव के परिवार में जमीन को लेकर विवाद चल रहा था। 2018 में तहसीलदार के यहां से इस जमीन का बैनामा प्रेम यादव के पक्ष में हो भी गया था, लेकिन इस बैनामा के खिलाफ सत्यप्रकाश दूबे के पटिदार देवरिया के सिविल कोर्ट में चले गए।

एक ग्रामीण ने बताया- गांव के ही एक व्यक्ति ने बताया कि कुल 25 बीघे जमीन पर सत्यप्रकाश दुबे उनके भाई ज्ञानचंद आधे के हिस्सेदार थे। साढ़े बारह बीघा जमीन उनके पटिदार की है जो भाटपाररानी रहते हैं। ज्ञानचंद दुबे नशे का आदि है, जो गुजरात जाकर काम धंधा करता है। अपने भाई सत्यप्रकाश से इसकी बिल्कुल नहीं बनती है, ये प्रेम यादव के ही मकान पर रहता है। इस पूरे मामले की जड़ में ज्ञानचंद द्वारा प्रेम यादव को बेची सवा छह बीघा जमीन है, जिसकी वजह से दो परिवारों में आपसी रंजिश पैदा हो गई, अंततः 6 लोगों की हत्या हो गई। जिन 6 लोगों की हत्या हुई है उनके नाम भी सामने आ गए हैं। इस हत्याकांड में 8 साल के बेटे अनमोल जो कि सत्यप्रकाश दुबे का बेटा है, इसका मेडिकल कॉलेज गोरखपुर में इलाज चल रहा है।

01- सत्यप्रकाश दुबे, पुत्र जनार्दन दुबे, उम्र 55 साल
02- किरण दुबे, पत्नी सत्यप्रकाश दुबे, उम्र 45 साल
03- सलोनी दुबे, पुत्री सत्यप्रकाश दुबे, उम्र 18 साल
04- नंदिनी, पुत्री सत्यप्रकाश दुबे, उम्र दस साल
05- गांधी, पुत्र सत्यप्रकाश दुबे, उम्र 15 साल
06- प्रेमचंद यादव, पुत्र राम भवन यादव, उम्र 45 साल

सीएम योगी आदित्यनाथ का का गुस्सा सातवें आसमान- वहीं, देवरिया हत्याकांड को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ का का गुस्सा सातवें आसमान पर था। सीएम ने गोरखपुर से लेकर लखनऊ तक के अधिकारियों की क्लास लगा दी, एडीजी गोरखपुर को तत्काल मौके के लिए रवाना किया। लखनऊ में प्रमुख सचिव गृह और स्पेशल डीजी को फौरन घटनास्थल पर पहुंचने के लिए कहा गया, सीएम खुद इस पूरे मामले की गोरखपुर से समीक्षा कर रहे हैं। सीएम ने सख्त निर्देश दिए हैं कि इस मामले में जो भी जिम्मेदार हैं उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाए। घटनास्थल पर प्रमुख सचिव गृह और स्पेशल डीजी मौके पर पहुंचकर मुआयना किया। पूरे मामले की जानकारी ली, प्रमुख सचिव गृह संजय प्रसाद ने जमीनी विवाद और स्थानीय थाने की भूमिका पर भी जांच करने की बात कही है। स्पेशल डीजी ने कहा कि सीएम के निर्देश पर वो यहां आए हैं, पूरे मामले पर हमारी नजर है। एक-एक बिंदु पर जांच की जाएगी, दोषियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।