एमडी पीजी कॉलेज प्रतापगढ़ में डा० मनोज मिश्र ने नियमित प्राचार्य के रूप में कार्यभार संभाला।

इसे एक सुखद संयोग ही कहा जाएगा कि डा० मनोज मिश्र के पिताजी डा० जगदीश प्रसाद मिश्र भी लगभग दो दशक तक इसी महाविद्यालय में प्राचार्य के रूप में सेवारत रहे और वे भी उत्तर प्रदेश उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग द्वारा स्थाई/नियमित प्राचार्य के रूप में चयनित होकर आए थे।
एमडी पीजी कॉलेज प्रतापगढ़ में डा० मनोज मिश्र ने नियमित प्राचार्य के रूप में कार्यभार संभाला।

एमडी पीजी कॉलेज में डा० मनोज मिश्र ने प्राचार्य के रूप में कार्यभार संभाला

डा० शक्ति कुमार पाण्डेय
राज्य संवाददाता
ग्लोबल भारत न्यूज नेटवर्क

प्रतापगढ़, 24 अक्टूबर।

जनपद और नगर के प्रतिष्ठित महाविद्यालय तथा उच्च शिक्षा के प्रमुख केंद्र मुनीश्वर दत्त स्नातकोत्तर महाविद्यालय में स्थाई/नियमित प्राचार्य के रूप में डा० मनोज मिश्र ने कार्यभार ग्रहण कर लिया। डा० मनोज मिश्र का चयन उत्तर प्रदेश उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग द्वारा हुआ है। डा० मनोज मिश्र इसी महाविद्यालय में लम्बे समय तक अर्थशास्त्र के विभागाध्यक्ष रहे।

इसे एक सुखद संयोग ही कहा जाएगा कि डा० मनोज मिश्र के पिताजी डा० जगदीश प्रसाद मिश्र भी लगभग दो दशक तक इसी महाविद्यालय में प्राचार्य के रूप में सेवारत रहे और वे भी उत्तर प्रदेश उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग द्वारा स्थाई/नियमित प्राचार्य के रूप में चयनित होकर आए थे।

लगभग दो दशकों तक सेवारत रहने के बाद जबसे डा० जगदीश प्रसाद मिश्र सेवा निवृत्त हुए तभी से महाविद्यालय को एक अदद स्थाई प्राचार्य की प्रतीक्षा थी, लेकिन शासन और उत्तरप्रदेश उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग कोई नियुक्ति नहीं कर सका। आखिरकार एक लम्बे अन्तराल के बाद उनके पुत्र डा० मनोज मिश्र ने ही इस महाविद्यालय में कार्यभार ग्रहण किया।

उल्लेखनीय है कि डा० जगदीश प्रसाद मिश्र का कार्यकाल पूरी तरह विवादों से मुक्त रहा और उस दौरान मुनीश्वर दत्त स्नातकोत्तर महाविद्यालय अपनी उत्कृष्ट शैक्षणिक और शिक्षणेतर गतिविधियों के लिए जाना जाता रहा।

डा० जगदीश प्रसाद मिश्र के सेवा निवृत्त होने के बाद कार्यवाहक प्राचार्य के रूप में डा० अरुण प्रकाश मिश्रा, डा० जे० मिश्रा, डा० अयोध्या नाथ त्रिपाठी, डा० विनोद शुक्ला और डा० अरुण कुमार श्रीवास्तव आदि कार्य करते रहे लेकिन लगभग दस वर्षों तक स्थाई/नियमित नियुक्ति नहीं हो सकी।

अब लम्बे समय के बाद के बाद महाविद्यालय को स्थाई प्राचार्य मिला है और यहां उत्तर प्रदेश उच्चतर शिक्षा सेवा द्वारा चयनित डॉ मनोज मिश्रा ने कार्यभार ग्रहण कर लिया है।

इस अवसर पर महाविद्यालय की प्रबंध समिति के अध्यक्ष प्रमन मिश्र, मंत्री आनंद कुमार पाण्डेय और निवर्तमान प्राचार्य अरुण कुमार श्रीवास्तव आदि उपस्थित रहे।

डॉक्टर मनोज मिश्रा अर्थशास्त्र के परास्नातक विभाग में विभागाध्यक्ष के रूप में कार्यरत रहे और इस दौरान शोधकार्यों के साथ-साथ बहुत से सेमिनार और कॉन्फ्रेंस न केवल प्रतिभाग किया बल्कि उनका आयोजन भी किया।वे महाविद्यालय की शैक्षणिक, प्रशासनिक और शिक्षणेतर गतिविधियों में लगातार सक्रिय रहे और एक योग्य प्राध्यापक, कुशल प्रशासक और अनुशासन प्रिय व्यक्ति के रूप में जाने जाते रहे।

डा० मनोज मिश्र के कार्यभार ग्रहण करने से महाविद्यालय में खुशी का माहौल है और जनपद के तमाम साहित्यकारों, शिक्षाविदों, और बुद्धिजीवियों ने उन्हें बधाई और शुभकामना संदेश प्रेषित किया है। लोगों ने आशा व्यक्त किया है कि डॉ मनोज मिश्रा के कार्यभार ग्रहण करने के बाद महाविद्यालय में व्याप्त तमाम विसंगतियां जल्द ही दूर हो सकेंगी और समस्याओं का निवारण भी हो सकेगा।