यात्री और टीटीई में विवाद। टीटीई ने चलती ट्रेन से यात्री को लात मारकर बाहर गिराया। यात्री की मौके पर ही मौत।

नाराज यात्रियों ने चेन खींचकर ट्रेन को रोका और आरोपी टीटीई की पिटाई करके जीआरपी चारबाग लखनऊ के हवाले कर दिया गया। जहां से पुलिस ने आरोपी टीटीई को जेल भेज दिया।
यात्री और टीटीई में विवाद। टीटीई ने चलती ट्रेन से यात्री को लात मारकर बाहर गिराया। यात्री की मौके पर ही मौत।

डाo शक्ति कुमार पाण्डेय
विशेष संवाददाता
ग्लोबल भारत न्यूज नेटवर्क

लखनऊ 16 मई।

ट्रेन में टिकट बनाने को लेकर यात्री और टीटीई में विवाद होने पर टीटीई ने चलती ट्रेन से यात्री को लात मारकर बाहर गिराया। यात्री की मौके पर ही मौत हो गई।

नाराज यात्रियों ने चेन खींचकर ट्रेन को रोका और आरोपी टीटीई की पिटाई कर दी। टीटीई को पुलिस अस्पताल ले गई। वहां से प्राथमिक उपचार के बाद टीटीई को जीआरपी चारबाग के हवाले कर दिया गया। जहां से आरोपी टीटीई को जेल भेज दिया गया।

गोरखपुर के चौरी-चौरा निवासी गोविंद 13 मई को देवरिया के रहने वाले अपने साले वसंत (26) के साथ सिकंदराबाद से घर को निकला। ट्रेन 02590 सिकंदराबाद-गोरखपुर स्पेशल की बोगी डी-3 में गोविंद का रिजर्वेशन था। बोगी में वसंत का चचेरा भाई तारकेश्वर भी सफर कर रहा था। ट्रेन शनिवार को बादशाह नगर पहुंची।

बोगी में संत कबीर नगर निवासी टीटीई जय नारायण यादव और उनका एक साथी टीटीई भी टिकट चेकिंग कर रहे थे। इस बीच वसंत के टिकट को लेकर टीटीई जय नारायण यादव का उनसे विवाद हो गया। रुपयों को लेकर हुआ विवाद झड़प में बदल गया।

इस बीच ट्रेन बादशाहनगर से भी चल पड़ी‌। मामला बढ़ने पर टीटीई जय नारायण यादव ने वसंत को लात मार दिया। जिससे असंतुलित होकर वसंत ट्रेन के बाहर जा गिरा। मौके पर ही वसंत की मौत हो गई।

गुस्साए यात्रियों ने टीटीई जय नारायण यादव की पिटाई कर दी। जबकि उसका साथी टीटीई भाग निकला। यात्रियों ने 112 नंबर डायल कर दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपी टीटीई का प्राथमिक उपचार कराया। इस बीच जीआरपी भी पहुंच गई।

मृतक के जीजा गोविंद की ओर से जीआरपी थाना पर मामला दर्ज कराया गया, जिसके बाद जीआरपी ने आरोपी टीटीई को जेल भेज दिया।