सद्भावना दिवस समारोह के रूप में मनायी गयी स्व. श्रीहर्ष पाण्डेय जी की 26 वीं पुण्यतिथि

मुख्य अतिथि सदर विधायक राजेन्द्र मौर्य ने कहा कि स्वर्गीय श्रीहर्ष पांडेय जी ने शिक्षा व समाज के लिए अपने पूरे जीवन को समर्पित किया।
 
Global bharat news

ग्लोबल भारत न्यूज़ नेटवर्क

प्रतापगढ़, 22 जनवरी । प्रखर वक्ता, समाजसेवी, इंटर कॉलेज रामनगर (अठगवां) के प्रबंधक व सरपंच स्व. श्रीहर्ष पाण्डेय जी के 26वें पुण्य-स्मृति-दिवस पर, श्रीहर्ष पाण्डेय समाजसेवा संस्थान के तत्वावधान में शहर के अजीत नगर में "सद्भावना दिवस समारोह" का आयोजन किया गया । जिसमें स्व. पाण्डेय जी के व्यक्तित्व व कृतित्व पर चर्चा करने के साथ ही उन्हें भावपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित की गई । कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सदर विधायक राजेन्द्र मौर्य, विशिष्ट अतिथि जिला विद्यालय निरीक्षक डॉ. ओ.पी. राय, उद्घाटन अतिथि पूर्व विधायक राजकुमार पाल रहे । इस दौरान विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली कुल 11 विभूतियों का सारस्वत अभिनन्दन करने के साथ ही, संस्थान की ओर से असहाय व जरूरतमंदों को कम्बल भी बांटा गया । कार्यक्रम की अध्यक्षता अनिल प्रताप त्रिपाठी प्रबन्धक व संचालन अनूप उपाध्याय 'अनुपम' ने किया ।

सद्भावना दिवस समारोह की शुरुआत अतिथियों द्वारा माँ सरस्वती तथा स्व. श्रीहर्ष पाण्डेय जी के चित्र के समक्ष दीप प्रज्ज्वलन व माल्यार्पण के साथ हुई । ततपश्चात वरिष्ठ कवयित्री मीरा तिवारी ने सरस्वती वंदना प्रस्तुत किया । कार्यक्रम संयोजक डॉ. अनूप कुमार पाण्डेय ने अतिथि का माल्यार्पण कर स्वागत किया । उद्घाटन अतिथि पूर्व विधायक राजकुमार पाल ने कार्यक्रम को संबोधित कर औपचारिक रूप से कार्यक्रम की शुरुआत की ।

सद्भावना दिवस समारोह को सम्बोधित करते हुए मुख्य अतिथि सदर विधायक राजेन्द्र मौर्य ने कहा कि स्वर्गीय श्रीहर्ष पांडेय जी ने शिक्षा व समाज के लिए अपने पूरे जीवन को समर्पित किया । इंटर कॉलेज रामनगर (अठगवां) जैसी शिक्षण संस्था की स्थापना कर, उन्होंने पीढ़ी दर पीढ़ी को शिक्षित करने का जो काम किया । उनका सामाजिक योगदान अतुलनीय व अविस्मरणीय है । विशिष्ट अतिथि जिला विद्यालय निरीक्षक डॉ. ओ.पी. राय  ने अपने सम्बोधन में कहा कि व्यक्ति का व्यक्तित्व ही उसे समाज में अविस्मरणीय रखता है । किसी व्यक्ति के द्वारा किए गए अच्छे कार्यों को समाज, उसके ना रहने पर भी सदैव याद रखता है । स्व. श्रीहर्ष पाण्डेय जी के समाजोपयोगी कार्य, उन्हें आज भी जीवंत बनाए हुए हैं । पूर्व एडीआईओएस डॉ. दयाराम मौर्य रत्न ने कहा कि प्रबंधक व सरपंच रहते हुए पंडित जी ने समाज के लोगों के उत्थान के लिए बहुत कार्य किया है । गरीबों में कम्बल वितरण करके आयोजकों ने सराहनीय कार्य किया है, पण्डित जी सदैव अविस्मरणीय रहेंगे । कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए प्रबन्धक अनिल प्रताप त्रिपाठी ने स्व. पाण्डेय को महामानव बताया, और कहा कि वे सदैव हमारे लिए प्रेरणास्रोत बने रहेंगे ।

इस दौरान विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली 11 विभूतियों का सम्मान संयोजक डॉ. अनूप कुमार पाण्डेय व उपस्थित अतिथियों ने सम्मान पत्र, अंगवस्त्रम व स्मृति चिन्ह भेंटकर किया । सम्मानित होने वालों में पत्रकारिता के क्षेत्र से जान मोहम्मद, समाजसेवा के क्षेत्र से इं. विशाल नाथ तिवारी, बाबूलाल मिश्र, शिक्षा के क्षेत्र से डॉ. विजय मिश्र प्राचार्य, नागेन्द्र नाथ तिवारी, डॉ. पल्लवी त्रिपाठी, विधि एवं न्याय के क्षेत्र से पंडित राम सेवक त्रिपाठी, रोहित शुक्ला, चिकित्सा के क्षेत्र से डॉ. कामायनी उपाध्याय, साहित्य के क्षेत्र से सुनील प्रभाकर, मीरा तिवारी शामिल रहे । उपस्थित साहित्यकारों ने अपनी-अपनी रचनाओं के माध्यम से स्व. पाण्डेय को श्रद्धांजलि अर्पित की ।

कार्यक्रम को वरिष्ठ पत्रकार शैलेंद्र मिश्र,  विजय प्रताप त्रिपाठी, सूर्यकांत त्रिपाठी निराला,  चिंतामणि पाण्डेय, राज नारायण शुक्ल राजन आदि ने सम्बोधित करते हुए स्व. श्रीहर्ष पाण्डेय के व्यक्तित्व व कृतित्व पर प्रकाश डाला और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की ।

इस दौरान मुख्य रूप से ओम प्रकाश त्रिपाठी, गिरजेश तिवारी, संजय श्रीवास्तव, हरिकेश मिश्र, मनोज त्रिपाठी, समाजसेवी रोशनलाल उमरवैश्य, विंध्याचल सिंह, शिवकांत मिश्र, दिलीप शुक्ला, अनिल सिंह, श्याम सुंदर टाऊ, संजय शुक्ला, यमुना प्रसाद पाण्डेय, शतेन्द्र तिवारी, परमानन्द मिश्र, आनन्द मोहन ओझा, सहित पत्रकारिता, शिक्षा व समाजसेवा से जुड़े तमाम गणमान्य लोग मौजूद रहे । कार्यक्रम के अंत में प्रधानाचार्य डॉ. अमित पाण्डेय ने आए हुए सभी अतिथियों के प्रति आभार प्रकट किया ।